UP POLICE CONSTABLE | उत्तर प्रदेश की महत्वपूर्ण नदियां

उत्तर प्रदेश से होकर बहने वाली कुछ महत्वपूर्ण नदियों में शामिल हैं:

1. गंगा 2.यमुना 3. सरयू 4.गोमती 5. बेतवा 6. चम्बल 7. राप्ती 8. घाघरा

ये नदियाँ राज्य के भूगोल और संस्कृति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

निश्चित रूप से! यहां वे उद्गम स्थल और समुद्र हैं जहां उत्तर प्रदेश में नदियाँ बहती हैं:

1. **गंगा (गंगा):** – उद्गम: उत्तराखंड राज्य में गंगोत्री ग्लेशियर। – प्रवाहित होती है: बंगाल की खाड़ी में।

2. **यमुना:** – उद्गम: उत्तराखंड राज्य में यमुनोत्री ग्लेशियर। – बहती है: इलाहाबाद (प्रयागराज) में गंगा में मिल जाती है और अंततः बंगाल की खाड़ी में पहुँचती है।

3. **सरयू:** – उद्गम: सरयू कुंड उत्तराखंड राज्य में। – बहती है: घाघरा नदी में मिलती है, जो बाद में गंगा में मिल जाती है।

4. **गोमती:** – उद्गम स्थल: उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में माधो टांडा के पास गोमत ताल। – बहती है: वाराणसी में गंगा में मिलती है और अंततः बंगाल की खाड़ी में पहुँचती है।

5. **बेतवा:** – उद्गम: मध्य प्रदेश में विंध्य पर्वतमाला। – बहती है: यमुना नदी में मिलती है, जो फिर गंगा में मिल जाती है और बंगाल की खाड़ी में बहती है।

6. **चंबल:** – उद्गम स्थल: मध्य प्रदेश में महू के पास जानापाव। – बहती है: यमुना नदी में मिलती है, जो बंगाल की खाड़ी की ओर प्रवाह में योगदान देती है।

7. **राप्ती:** – उद्गम: नेपाल में अन्नपूर्णा श्रेणी। – बहती है: घाघरा नदी में मिलती है, जो अंततः गंगा में मिल जाती है और बंगाल की खाड़ी में बहती है।

8. **घाघरा:** – उद्गम स्थल: मैपचाचुंगो, तिब्बत। – बहती है: बंगाल की खाड़ी तक पहुँचने से पहले बिहार में गंगा में विलीन हो जाती है।

ये नदियाँ सामूहिक रूप से गंगा बेसिन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनती हैं, जो उत्तर प्रदेश के परिदृश्य और जीवन को प्रभावित करती हैं।

निश्चित रूप से, यहां उत्तर प्रदेश की कुछ प्रमुख नदियों के प्रवेश और निकास बिंदुओं की जानकारी दी गई है:

1. **गंगा (गंगा):** -प्रवेश:बिजनौर जिले से प्रवेश करता है। – निकास: बलिया जिले से निकास।

2. **यमुना:** – प्रवेश: सहारनपुर जिले से प्रवेश करता है। – निकास: इलाहाबाद (प्रयागराज) जिले से निकास।

3. **सरयू:** – प्रवेश:बहराइच जिले से प्रवेश करता है। – निकास: अयोध्या (फैजाबाद) जिले से निकास। 4. **गोमती:** -प्रवेश:पीलीभीत जिले से प्रवेश। – निकास: सुल्तानपुर जिले से निकास।

5. **बेतवा:** – प्रवेश: हमीरपुर जिले से प्रवेश करता है। – निकास: बांदा जिले से निकास।

6. **चंबल:** – प्रवेश: इटावा जिले से प्रवेश करता है। – निकास : औरैया जिले से निकास।

7. **राप्ती:** -प्रवेश:बलरामपुर जिले से प्रवेश। – निकास: सिद्धार्थनगर जिले से निकास।

8. **घाघरा:** – प्रवेश:बहराइच जिले से प्रवेश करता है। – निकास: बलिया जिले से निकास।

ये प्रवेश और निकास बिंदु उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से होकर इन नदियों के मार्ग को परिभाषित करने में मदद करते हैं।

उत्तर प्रदेश की प्रमुख नदियाँ राज्य तक पहुँचने से पहले कई राज्यों से होकर गुजरती हैं।

यहां उन राज्यों का सारांश दिया गया है जहां से ये नदियां बहती हैं:

1. **गंगा (गंगा):** – गुजरती है: उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल।

2. **यमुना:** – होकर गुजरता है: उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश।

3. **सरयू:** – गुजरता है: उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश।

4. **गोमती:** – गुजरता है: उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश।

5. **बेतवा:** – गुजरता है: मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश।

6. **चंबल:** – गुजरती है: मध्य प्रदेश और राजस्थान से।

7. **राप्ती:** – गुजरता है: नेपाल और उत्तर प्रदेश।

8. **घाघरा:** – गुजरती है: तिब्बत (चीन), नेपाल और उत्तर प्रदेश।

ये नदियाँ विविध क्षेत्रों से होकर गुजरती हैं और जिन राज्यों से होकर गुजरती हैं वहां के भूगोल, संस्कृति और पारिस्थितिकी तंत्र को प्रभावित करती हैं।

निश्चित रूप से, यहां उत्तर प्रदेश के वे जिले हैं जहां से होकर कुछ प्रमुख नदियाँ गुजरती हैं:

1. **गंगा (गंगा):** – गुजरती है:बिजनौर,अमरोहा,संभल,शाहजहांपुर,हरदोई,लखनऊ,रायबरेली,प्रतापगढ़,सुलतानपुर,जौनपुर,वाराणसी,गाजीपुर और बलिया।

2. **यमुना:** – गुजरती है: सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, हापुड, बुलन्दशहर, अलीगढ, एटा, आगरा, मथुरा और इलाहाबाद (प्रयागराज)।

3. **सरयू:** -गुजरता है:बहराइच, गोंडा,बाराबंकी और अयोध्या (फैजाबाद)।

4. **गोमती:** – गुजरती है:पीलीभीत, शाहजहाँपुर,हरदोई,लखनऊ,बाराबंकी,सुल्तानपुर,औररायबरेली।

5. **बेतवा:** -गुजरता है:हमीरपुर,जालौन,और बांदा।

6. **चंबल:** -गुजरता है:इटावा और औरैया से।

7. **राप्ती:** – गुजरता है:बलरामपुर और सिद्धार्थनगर।

8. **घाघरा:** -गुजरता है:बहराइच,बाराबंकी,गोडा और बलिया।

ये नदियाँ परिदृश्य को आकार देती हैं और उत्तर प्रदेश के इन जिलों की कृषि और सांस्कृतिक समृद्धि में योगदान देती हैं।

Facebook Comments

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Please follow and like us:

About Shashank Pal

Kanpur based Video Editor and Blogger.

View all posts by Shashank Pal →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *